Friday, December 30, 2011

इस जन्म के अधूरे, वादों के जैसा गुज़रे..


ये साल जो आएगा, बस साल नया होगा,
ना ज़ख़्म भर चलेंगे, ना हाल नया होगा,
इस साल में नया सा, कुछ भी तो नहीं होगा,
जो अब तलक हुआ है, आगे भी वही होगा,
कुछ अंक बदलने से, क्या वक़्त बदलता है,
बस मन का ये वहम है, बस मन ही बहलता है..

आदत है कौन सी जो, मैं छोड़ने की ठानूं,
इक सांस, इक है धड़कन, मैं किसको बुरा मानूं,
ज़िन्दा हूं जिस सहारे, उसको मैं कैसे छोड़ूं,
ये हाथ की लकीरें, बतलाओ कैसे मोड़ूं,
ये साल का बदलना, ना आख़िरी दफ़ा है,
जितने बचे हैं बाक़ी, इतनी सी इल्तजा है..

नए साल कितने भी हों, सब हाथों-हाथ गुज़रें,
गए साल से पहले की, यादों के साथ गुज़रें..
था साथ कुछ ही पल का, पर शुक्रिया ख़ुदाया,
उन कुछ पलों को मैने, जीते हुए बिताया,
उन कुछ पलों के दम पे, मैं अश्क़ हर पियूंगा,
उन कुछ पलों के दम पे, मैं उम्र भर जियूंगा..

बस एक दुआ मेरी, क़ुबूल ख़ुदा करना,
इक जन्म नया देना, जिसमें ना जुदा करना,
इक जन्म जो पूरा ही, यादों के जैसा ग़ुज़रे,
इस जन्म के अधूरे, वादों के जैसा गुज़रे..
इस जन्म के अधूरे, वादों के जैसा गुज़रे..
इस जन्म के अधूरे, वादों के जैसा गुज़रे..

9 comments:

  1. maana har saal ek jaisa hi hota hai...maana wo zhakm nahi bhar sakta... par apne saath nai khushiyaan bhi to lata hai...jo waadein adhoorein reh gaye the unhe poora karne ka samay le ke aata hai naya saal...haan wo nahi laut ke aate jo ja chuke hain par unki yaadon ko aur taaza karta hai aane wala saal.....happy new year..

    ReplyDelete
  2. //jo ja chuke hain par unki yaadon ko aur taaza karta hai aane wala saal.
    Yup rightly said..

    thanks brindle.. a very happy new year to u too :)

    ReplyDelete
  3. कल 02/03/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. Bahut bahut dhayawaad sir mujhe shaamil karne k liye :)

      Delete
  4. umda.....sach me aisa saal nasib ho jisme koi judaai na ho.....

    ReplyDelete
  5. बड़ी सहजता से छू गयी -
    बहुत सुन्दर रचना

    ReplyDelete
  6. Aap sabhi ka bahut bahut dhanyawaad.. mujhe bahut khushi hai ki aap sab ko meri rachna pasand aai :)

    ReplyDelete