Monday, December 12, 2011

कुर्बानी


ये बिन अपवाद, आंसू-दर्द, अपने संग लाती है,
इच्छा और अच्छा में, उबलती जंग लाती है,
गुज़रती क्या है कुर्बानी में कुर्बां पर, है ये जाना,
बस अब ये देखना बाकी है, क्या ये रंग लाती है..

13 comments:

  1. Waah Bhai ..
    ये बिन अपवाद, आंसू-दर्द, अपने संग लाती है,
    इच्छा और अच्छा में, उबलती जंग लाती है,

    ReplyDelete
  2. कल 05/03/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  3. bahut khub


    होली की शुभकामनएं

    ReplyDelete
  4. Sabhi ka bahut bahut shukriya :)

    ReplyDelete
  5. आपको नव संवत्सर 2069 की सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ----------------------------
    कल 23/03/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  6. kurbani rang lati hi ha...aaj ya kal..sundar chitran....

    ReplyDelete
  7. कुर्बानी कर दी ना???.....अब मोह छोडो....
    ईश्वर ने चाहा तो रंग लाएगी ही....

    सुन्दर भाव...

    ReplyDelete
  8. गहरे अर्थ लिए
    बेहतरीन प्रस्तुति है...

    ReplyDelete